comScore

अर्न एंड लर्न योजना से 200 विद्यार्थियों को मिलेगा काम, पार्ट टाइम काम के लिए मिले 314 फार्म

अर्न एंड लर्न योजना से 200 विद्यार्थियों को मिलेगा काम, पार्ट टाइम काम के लिए मिले 314 फार्म

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय को इस वर्ष की "अर्न एंड लर्न' योजना के तहत पार्टटाइम काम के लिए 314 विद्यार्थियों के आवेदन मिले, जिसमें से  यूनिवर्सिटी  ने 200 जरूरतमंद विद्यार्थियों को अपने ही किसी विभाग या संचालित कॉलेज में नियुक्त करने का निर्णय लिया है। पहली सूची में यूनिवर्सिटी ने 155 विद्यार्थियों का चयन किया था। अब दूसरी सूची में यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी कल्याण विभाग ने 45 विद्यार्थियों का नाम जारी किया है। इन विद्यार्थियों को विश्वविद्यालय के 46 शैक्षणिक व प्रशासनिक विभागों में ही नियुक्त किया जाएगा। ये विद्यार्थी पढ़ाई के साथ-साथ ये काम भी करेंगे। विश्वविद्यालय को इस वर्ष करीब 315 विद्यार्थियों के आवेदन प्राप्त हुए थे।

दिन में 3 घंटे कर सकेंगे काम, पार्टटाइम काम करने के काफी इच्छुक
 यूनिवर्सिटी ने ‘अर्न एंड लर्न’ योजना के लिए 21 सितंबर से 26 सितंबर तक आवेदन मंगवाए थे। यह विद्यार्थी एक दिन में करीब 3 घंटे काम कर पाएंगे। इन्हें प्रतिघंटे काम के 50 रुपए मानदेय दिया जाएगा। दरअसल यूनिवर्सिटी  में बड़ी संख्या में आर्थिक रूप से कमजोर तबके के विद्यार्थी भी पढ़ते हैं। उन्हें आर्थिक सहयोग करने की दृष्टि से यह योजना चलाई जाती है। इसके तहत यूनिवर्सिटी कैंपस या संचालित कॉलेज के ही किसी विभाग में विद्यार्थी को पार्टटाइम काम दिया जाता है। इससे विद्यार्थी को पढ़ाई के साथ कुछ आमदनी भी हो जाती है। विश्वविद्यालय के विद्यार्थी कल्याण विभाग ने इस योजना को विस्तार देकर अगले वर्ष से यह योजना कॉलेजों में भी शुरू करने की तैयारी की है। विश्वविद्यालय को मालूम है कि, कॉलेजों में भी कई गरीब बच्चे पढ़ते हैं, जिन्हें इस प्रकार की योजना की जरूरत है। ऐसे में यूनिवर्सिटी  ने इस योजना को कॉलेज स्तर पर ले जाने का निर्णय लिया है। अभी इसकी तैयारी शुरू की गई है, लेकिन इसे लागू करने में वक्त लगेगा। संभव है, शैक्षणिक सत्र 2021-22 में कॉलेज स्तर पर अर्न एंड लर्न योजना शुरू होगी।

कमेंट करें
75M2L