comScore
Dainik Bhaskar Hindi

क्या आपको भी लगता है डर, मनोविज्ञान में छिपा है आपके हर डर का राज, video

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 04th, 2018 19:18 IST

1.2k
0
0

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली।  हर इंसान के अंदर कोई न कोई डर छिपा होता है, आपने देखा होगा आपको जिस काम को करने में कोई दिक्कत नहीं होती, उसी काम को करने में दूसरे के पसीने निकल आते हैं। अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोग अंधेरे से इतना डर जाते हैं कि उनकी चीख तक निकल जाती है, और कुछ लोगों को अगर ऊंचाई पर खड़ा कर दें तो वो घबरा जाते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं आपके इस डर के पीछे एक बहुत ही बड़ा कारण है। ये डर आपके व्यक्तित्व का बखान करने के लिए बहुत है। आज हम ऐसे ही सामान्य से लगने वाले डर के बारे में बात करने जा रहे हैं जिससे आप खुद को और दूसरों की पर्सनालिटी के बारे में अच्छे से जान सकते हैं।

 # सांप
आपने अपनी जिंदगी में बहुत से ऐसे लोगों को देखा होगा जो बहुत बहादुर हैं, लेकिन सांप के नाम से ही सिहर जाते हैं। सांप धोखे को दर्शाता है ऐसे में आपको सांप से डर लगता तो इसका अर्थ है कि आपकी सुरक्षात्मक वृत्ति बहुत मजबूत है और आप दूसरों के मुश्किल समय में हमेशा खड़े होते हैं।

# खून
आपने देखा होगा कुछ लोग बड़ी से बड़ी चोट सहन कर जाते हैं, लेकिन जैसे ही वो खून का एक कतरा भी देख लें तो उन्हें उल्टी और चक्कर आने लगते हैं। आपको बता दें खून को देखकर इस तरह से घबराने वाले लोग काफी शांत और प्रोटेक्टिव होते हैं। ऐसे में खून को देखकर उनका शांत दिमाग खतरे का संकेत देता है, जिससे उनका जी मचलाने लगता है।

# भीड़ में बोलने में हिचकिचाहट
ये एक आम डर है, हर कोई भीड़ में बोलने से हिचकिचाता है, लेकिन कुछ समय बाद वो डर निकल जाता है। इस तरीके के डर में जीने वाले लोग भीड़ का सामना करने की हिम्मत नहीं जुटा पाते, और लोगों को देखकर कांपने लगते हैं। आपको बता दें ये डर आपके अंदर आत्मविश्वास की कमी का संकेत है। इसके अलावा अगर आप अपने हर काम पर दूसरों की सलाह लेते हैं या आपको लगता है कि आप फेल हो जाएंगे तो इसका मतलब है कि आपको खुद पर विश्‍वास नहीं है।

# जोकर को देखकर लगता हैडर
क्या आपने सोचा है कि जिस जोकर को हंसी का प्रतीक मानते हैं उससे भी कुछ लोगों को डर लगता है। बता दें जोकर निर्णय लेने की क्षमता को दर्शाता है। अगर आप ईमानदार, पारदर्शी और सीधी बात करने वाले हैं तो आपको जोकर से डर लग सकता है।

# मकड़ी
यूं तो मकड़ी को देखकर कई सारे लोगों की चीखें निकल जाती हैं, लेकिन कुछ के मन में मकड़ी के नाम से इतना डर होता है कि वो इस देखकर पसीने से तर हो जाते हैं। अगर मनोविज्ञान के नजरिये से देखा जाए तो ऐसे लोगो में नेतृत्व की प्रवृत्ति बहुत मजबूत होती है।

# साफ-सफाई को लेकर डर
आपने देखा होगा कुछ लोग साफ-सफाई को लेकर थोड़े सनकी होते हैं। उनके मन में बार-बार अपने आसपास की सफाई के बारे में ख्याल आते रहते हैं तो इसका मतलब यह है कि आप छोटी-छोटी बातों को लेकर परेशान रहते हैं।

# अंधेरा
अंधेरे का मतलब है रोशनी की तलाश करना। अगर आपको अंधेरे से डर लगता है तो इसका सीधा मतलब है कि आप बहुत क्रिएटिव हैं। मनोविज्ञान के अनुसार खाली जगह देखते ही आपके दिमाग में कई तरह की तस्‍वीरें बनने लगती हैं जो आपको डरा देती हैं।

# अकेलापन
कहते हैं कि अकेलेपन से बड़ा कोई डर नहीं होता। इस डर का सीधा अर्थ है ऐसे लोगों को जीवन में पर्याप्त प्यार नहीं मिलता जिसकी उन्हें जरूरत है।


# लोगों के बीच जाने का डर
अगर आपको कई लोगों से खचाखच भरी जगह देखकर भी डर लगता है और आप हमेशा पर्सनल स्‍पेस की तलाश में रहते हैं तो आप किसी पर आसानी से भरोसा करने वालों में से नहीं हैं।

# ऊंचाई
ऊंचाई एक आम डर है, हर कोई जरूरत से ज्यादा ऊंची जगह जाकर कांपने लगता है। कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो महज कुछ फीट ऊंची जगह पर ही घबरा जाते हैं। अगर किसी को ऊंचाई से डर लगता है तो इसका मतलब है कि वो इंसान अपनी जड़ों से जुड़ा हुआ है और उसका अपने कदमों पर नियंत्रण है। ऐसे लोग बुद्धिमान और संवेदनशील होते हैं और ये किसी भी तरह की परिस्थिति को नियंत्रण में रखना जानते हैं।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

ई-पेपर