comScore

खेत में बाघ ने डेरा डाला, हमले में बुजुर्ग घायल, लोगों की भारी भीड़

खेत में बाघ ने डेरा डाला, हमले में बुजुर्ग घायल, लोगों की भारी भीड़

डिजिटल डेस्क, चिमूर (चंद्रपुर)। पिछले दो दिनों से एक खेत में  बाघ ने डेरा डाल रखा है। इस बीच बाघ को देखने के लिए गए बुजुर्ग पर बाघ ने हमला कर दिया । जिससे वृद्ध घायल हो गया है। खेत में डेरा डालने के बाद वहां अपने शिकार का भोजन करते बाघ को देखने के लिए लोगों की अच्छी-खासी भीड़  उमा नदी के पुल तक लगी हुई है और लोग दहशत में हैं। जानकारी के अनुसार मसाल रोड पर उमा नदी के किनारे अगडे नामक किसान के खेत में एक झाड़ी में दो दिनों से एक बाघ ने डेरा डाल रखा है । एक बुजुर्ग जब बाघ को देखने के लिए गया तो बाघ ने उसके सिर पर पंजा मारकर घायल कर दिया। घायल बुजुर्ग का नाम बाबा नीलकंठ गोठे (65) गुरुदेव वार्ड  चिमूर निवासी है। 

बताया जाता है कि ताडोबा से सटा यहां का क्षेत्र जंगलों से घिरा हुआ है यहां आए दिन बाघ सहित अन्य जानवरों को विचरण करते देखा जा सकता है।  बाघ ने दो दिन पूर्व मंगलवार को उमा नदी तट पर गुलाब लोटे के खेत में एक मवेशी के झुंड पर हमला कर एक गाय को मार डाला था। उस समय वन विभाग और नागरिकों ने जैसे-तैसे बाघ को यहां से खदेड़ा था। अपने किए हुए शिकार से पेट भरने के लिए बाघ पुन: खेत में आया और शिकार को झाड़ियों के पास ले जाकर अपना पेट भरने लगा। उमा नदी से होकर गुजरने वाला यह एक मात्र मार्ग है।

बाघ के यहां होने की जानकारी मिलते ही लोगों की भीड़ लग गई। इस बीच बाघ को भगाने का प्रयास कर रहे बुजुर्ग पर बाघ ने हमला कर दिया।  बताया जाता है कि बाघ ने अचानक हमला किया तो बचने का कोई रास्ता नहीं था। कुछ भीड़ मैदान के पास थी। वन विभाग ने बाघ को भगाने के लिए पटाखे चलाए, लेकिन बाघ खेत पर ही डटा रहा । बाघ को भगाने के लिए भीड़ में कुछ लोग बाघ के पास जाकर नाच रहे थे। वन विभाग और पुलिस विभाग की कोई नहीं सुन रहा था। उसी भीड़ में से बाघ ने जब बुजुर्ग  पर हमला किया तो लोग यहां-वहां भागने लगे। घायल को उप-जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

बाघ के पास कॉलर आईडी है। बाघ की विस्तृत जानकारी निकाली जा रही है।  किसानों से  सहयोग की अपील की गई है।
भाविक चिवंडे , वानिकी अधिकारी, क्षेत्रीय वन कार्यालय चिमूर
 

कमेंट करें
UjvGn