comScore

गैस कटर से काटी बैंक की तिजोरी, उड़ा ले गए नगदी

गैस कटर से काटी बैंक की तिजोरी, उड़ा ले गए नगदी


डिजिटल डेस्क छिन्दवाड़ा/चौरई। मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक की कपूर्दा शाखा में रविवार-सोमवार की दरम्यानी रात चोरों ने दीवार में सेंधमारी कर तिजोरी में रखे लगभग 75 हजार रुपए पर हाथ साफ कर दिया। घटना की जानकारी सुबह बैंक खोलने आए कर्मचारी को लगी तब उसने पुलिस को सूचना दी। घटना की जानकारी लगते ही एसडीओपी व टीआई ने तत्काल मौके पर पहुंचकर निरीक्षण किया और आरोपियों की तलाश शुरू की है। मिली जानकारी के अनुसार कपूर्दा स्थित ग्रामीण बैंक की शाखा में दरम्यानी रात चोरों ने बैंक के पीछे स्थित शौचालय की दीवार तोड़कर यहां एक बड़ा छेद बनाया। चोरों ने इसी छेद से बैंक में प्रवेश किया और तिजोरी को कटर से काटकर उसमें रखे सिक्के सहित लगभग 75 हजार 400 रुपए पर हाथ साफ कर दिए। चोरी की सूचना मिलने पर एसडीओपी खुमान सिंह धुर्व एवं थाना प्रभारी सुमेर सिंह जगेत ने घटना स्थल पंहुच कर बारीकी से जांच की है। वहीं एसपी मनोज राय और एएसपी शशांक गर्ग भी मौके पर पहुंचे। एसपी ने जांच के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।
बंद था सीसीटीवी कैमरा-
एसपी ने सभी बैंक अधिकारियों को अपने यहां सीसीटीवी लगाकर लगातार चालू रखने के निर्देश दिए हैं। इस बैंक में भी सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। लेकिन सीसीटीवी केवल दिन में चालू रहती है रात में इसे बंद कर दिया जाता है। इतना ही नही सीसीटीवी कैमरा एक साल से अपडेट ही नही किया गया है। कैमरे में अभी भी एक साल पहले की तारीख ही बता रहा है। सायबर सेल ने कैमरों से डिटेल खंगालने की कोशिश की लेकिन उन्हें सफलता नही मिली है। बैंक प्रबंधन सीसीटीवी में तकनीकी फाल्ट बता रहा है।  
बैंक के पीछे मक्के का खेत होने से नहीं लगा पता-
बैंक के बिलकुल पीछे मक्के की फसल है। यहां पर एक सार्वजनिक शौचालय भी है। यहां से ही चोरों ने बैंक के पीछे की दीवार में छेद किया था। शौचालय की दीवार कमजोर थी जिसे आसानी से तोड़ लिया गया।
बाहरी गिरोह पर संदेह-
चोरों ने गैस कटर की मदद से बैंक की तिजोरी को काट दिया। इस मामले में पुलिस को किसी बाहरी गिरोह के शामिल होने का संदेह है। इस वारदात में स्थानीय लोग भी शामिल हो सकते हैं। जिन्होंने चोरी में मदद की है।
इनका कहना है--
बैंक में चोरी की वारदात हुई है, इस मामले में टीआई, एसडीओपी को सघन जांच के निर्देश दिए हैं, स्थानीय लोगों से भी पूछताछ की जा रही है।
मनोज राय, पुलिस अधीक्षक छिंदवाड़ा।

कमेंट करें
LjoiC