comScore

शातिर अपराधियों ने हर्रई के जंगल में बेटी और पिता पर किया हमला, बेटी का गला रेता

शातिर अपराधियों ने हर्रई के जंगल में बेटी और पिता पर किया हमला, बेटी का गला रेता


डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा। हर्रई के ग्राम गौरपानी में एक महिला और उसके पिता को साधू बाबा से मिलाने का झांसा देकर तीन युवकों ने उस पर प्राणघातक हमला कर दिया।  हमलावरों से बचकर पिता तो भागने में कामयाब हो गया, लेकिन आरोपियों ने महिला का गला रेत दिया। चाकू के घाव से महिला के गले में गहरा घाव लगा है। 108 एम्बुलेंस की मदद से महिला को हर्रई अस्पताल लाया गया। यहां प्राथमिक इलाज के बाद उसे नरङ्क्षसहपुर रेफर कर दिया गया। वारदात की सूचना मिलने पर पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई थी।
पुलिस ने बताया कि हर्रई के दुल्हादेव के समीप बरातमारी निवासी रेखा पति राधेश्याम उईके (32) सिवनी के ग्राम दल्लीटोला छपारा अपने मायके में थी। महिला का पति सीआरपीएफ में है। सोमवार रात तीन युवक उनके घर आए और मौसम खराब होने का बहाना कर वे वहीं रुक गए। सुबह इनमें से एक युवक ने रेखाबाई और उसके पिता विजय धुर्वे से कहा कि गोरखपुर और गौरपानी के बीच जंगल में एक सिद्ध साधू बाबा आए है। वे उनके परिवार की सभी समस्याओं का निदान कर देंगे। उसकी बातों में आकर रेखाबाई और उसका पिता विजय धुर्वे उसी की बाइक में जंगल आ गए। जंगल में पहले से मौजूद उसके दोनों साथियों ने मिलकर रेखाबाई और विजय पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। पिता भागने में कामयाब हो गया। रेखा आरोपियों से अपने आप को नहीं छुड़ा पाई। आरोपियों ने चाकू से रेखा का गला रेत दिया और फरार हो गए। आरोपियों के भागने के बाद दोबारा घटना स्थल पर पहुंचे पिता ने रेखाबाई को जंगल से बाहर लाया। 108 एम्बुलेंस की मदद से घायल को हर्रई अस्पताल लाया गया। यहां से उसे नरङ्क्षसहुपर रेफर कर दिया गया।
पुलिस भी मामले में उलझी-
घायल रेखाबाई और उसका पिता विजय तीनों आरोपियों को नहीं पहचानते। अनजान लोगों को सोमवार रात उन्होंने अपने घर में शरण दी और मंगलवार सुबह उनके बहकावे में आकर जंगल के भीतर भी चले गए। पीडि़त के बयान के बाद पुलिस भी मामले में उलझ गई है। पुलिस तीनों आरोपियों की तलाश कर रही है।

कमेंट करें
03Kue