comScore

नहीं है पीने का पानी, चुनाव का बहिष्कार की चेतावनी, पिपरिया राजगुरू में ग्रामीणों ने किया विरोध प्रदर्शन

नहीं है पीने का पानी, चुनाव का बहिष्कार की चेतावनी, पिपरिया राजगुरू में ग्रामीणों ने किया विरोध प्रदर्शन

डिजिटल डेस्क, अमरवाड़ा/छिंदवाड़ा। गांव में पीने का पानी नहीं है, 2 माह से नल जल योजना बंद है। महिलाओं को रोज एक डेढ़ किमी दूर हैंडपंप या कुएं से पानी लाना पड़ रहा है। अधिकारियों को आवेदन देकर थक गए हैं। कोई ध्यान नहीं दे रहा है। अब हमने तय कर लिया है कि यदि गांव में पीने के पानी की व्यवस्था नहीं की गई तो हम लोकसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार करेंगे। यह ऐलान गुरुवार को अमरवाड़ा विकासखंड के पिपरिया राजगुरू गांव के ग्रामीणों ने किया।

गांव के बाहर से लाते हैं पानी
ग्राम पिपरिया राजगुरू की आबादी लगभग 2800 है, यहां नल जल योजना 2 माह से बंद है। ग्राम पंचायत के सचिव गुलफाम अली ने बताया कि जलस्तर कम होने की वजह से नल जल योजना बंद हो गई है, पंचायत के द्वारा 2 बोर खनन कराए गए, उसमें पानी नहीं निकल सका। नल जल योजना को चालू करने के लिए पंचायत द्वारा अनुविभागीय अधिकारी एवं पीएचई के अधिकारियों को लिखित में सूचित किया गया, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। वर्तमान में ग्रामीण बस्ती के बाहर चालू हैंडपंप एवं कुएं से पानी ला रहे हैं।  

किया विरोध प्रदर्शन 
पिपरिया राजगुरु में गुरुवार को महिलाओं एवं नागरिकों ने हाथों में तख्ती लेकर पानी के लिए विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान सुशीला सिंगारे, सुभद्रा डेहरिया, कमली वर्मा, जानकी कहार, रामकली, सरोज साहू, कोड़ी वर्मा, रामदास वर्मा, माधाराम डेहरिया, सुंदर साहू, विक्की वर्मा, देवीलाल वर्मा, सोहन लाल वर्मा, बबलू, सियाराम, बनवारी, सदाशिव सहित सैकड़ों ग्रामीण ने प्रशासन से शीघ्र पेयजल की व्यवस्था बनाने की मांग की। उन्होंने कहा कि यदि शीघ्र पेयजल की समस्या हल नहीं हुई तो आगामी दिनों में उग्र आंदोलन किया जाएगा और लोगों को मतदान नहीं करने की अपील की जाएगी।

इनका कहना है
ग्रामीणों की समस्या का समाधान शीघ्र कराया जाएगा। पीएचई के अधिकारियों से इस संबंध में बात की जा रही है। जरूरत पड़ी तो गांव के आसपास के जल स्त्रोतों को अधिग्रहित कर पेयजल हेतु व्यवस्था बनवाई जाएगी। 
एमआर धुर्वे, एसडीएम अमरवाड़ा

ग्राम पंचायत पिपरिया राजगुरु के सरपंच एवं सचिव से बात कर उन्हें वैकल्पिक व्यवस्था बनाकर पानी उपलब्ध कराने हेतु निर्देश दिया गया है, जल्द ही ग्रामीणों को पेयजल उपलब्ध हो जाएगा।
डीआर उईके, सीईओ जनपद पंचायत अमरवाड़ा


 

कमेंट करें
47MQL