राहुल बनेंगे कांग्रेस अध्यक्ष!: इंडियन यूथ कांग्रेस ने पारित किया प्रस्ताव, राहुल गांधी को AICC का अध्यक्ष नियुक्त किए जाने की मांग

September 6th, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के अध्यक्ष के रूप में राहुल गांधी की नियुक्ति की मांग को लेकर इंडियन यूथ कांग्रेस ने एक प्रस्ताव पारित किया है। सोनिया गांधी कांग्रेस पार्टी की वर्तमान अध्यक्ष हैं। राहुल के इस्तीफे के बाद से सोनिया गांधी इस पद को संभाल रही है।

भारतीय युवा कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने संकल्प की एक प्रति ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा, 'भारतीय युवा कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में, IYC ने संयुक्त रूप से एक प्रस्ताव पारित किया कि राहुल गांधी को इंडियन नेशनल कांग्रेस के संविधान के अनुसार AICC अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया जाना चाहिए।

 

 

2017 में जब राहुल अपनी मां सोनिया के बाद कांग्रेस अध्यक्ष बने, तो कांग्रेस कार्यकर्ताओं को उम्मीद थी कि पार्टी अच्छा प्रदर्शन करेगी। हालांकि उनके कार्यकाल में पार्टी को कई राज्यों के चुनावों में हार का सामना करना पड़ा। जब कांग्रेस पार्टी 2019 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार को गिराने में विफल रही, तो उन्होंने कांग्रेस की हार की नैतिक जिम्मेदारी स्वीकार करते हुए इस्तीफा दे दिया।

अपने त्याग पत्र में, राहुल गांधी ने कहा था कि एक गैर-गांधी को कांग्रेस का नेतृत्व करना चाहिए, जिसे ज्यादातर नेहरू-गांधी परिवार के सदस्यों ने अपने 135 साल के लंबे इतिहास के दौरान चलाया है। राहुल के इस्तीफे के बाद दोबारी उनकी मां को कांग्रेस का अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया।  सोनिया गांधी ने पहले भी 19 साल तक कांग्रेस का नेतृत्व किया था।

सोनिया गांधी को कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किए लगभग दो साल हो चुके हैं, लेकिन पार्टी के अगले प्रमुख के बारे में कोई स्पष्टता नहीं है। पिछले डेढ़ साल में इस पद के चुनाव तीन बार टाले जा चुके हैं और इसमें और देरी हो सकती है। पार्टी के संविधान के अनुसार, कांग्रेस अध्यक्ष का कार्यकाल 2022 में पांच साल के कार्यकाल के बाद समाप्त हो जाएगा क्योंकि राहुल को 2017 में नियुक्त किया गया था। 

चुनाव जून के अंत तक निर्धारित किए गए थे, लेकिन देश में कोविड-19 की स्थिति के कारण इसे टाल दिया गया। कांग्रेस महासचिव (संगठन) के सी वेणुगोपाल ने तब कहा था कि स्थगन केवल दो-तीन महीने के लिए था। हालांकि, पार्टी सूत्रों ने कहा कि चुनाव कराने की संभावित तारीखों के बारे में कुछ नहीं कहा गया है। उन्होंने कहा कि राहुल प्रदेश कांग्रेस समितियों और एआईसीसी में फेरबदल पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...