दैनिक भास्कर हिंदी: बिहार चुनाव: ओपीनियन पोल में एनडीए को जीत का अनुमान, नीतीश बोले- जनता मालिक है, सेवा का मौका देगी

September 26th, 2020

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। आईएएनएस सी वोटर बिहार ओपीनियन पोल सर्वे के अनुसार, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) बिहार में सत्ता में वापसी कर सकती है। सर्वे के अनुसार, एनडीए बिहार विधानसभा की 243 सीटों में से 151 पर कब्जा जमा सकती है। वहीं यूपीए को 74 सीट मिलने का अनुमान जताया गया है। अन्य को 18 सीट मिलेंगी।

2015 में एनडीए ने 58 सीट हासिल की थी
एनडीए ने 2015 में 58 सीट हासिल की थीं, जिसमें इस बार जबरदस्त बढ़ोतरी होगी। जनता दल यूनाइटेड ने बाद में महागठबंधन से नाता तोड़ लिया था और बिहार में भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। सभी क्षेत्रों के हिसाब से, एनडीए को उत्तर बिहार में 49 सीट, मगध-भोजपुर में 41 सीट मिलने की संभावना है। सभी क्षेत्रों में, यूपीए 2015 की तुलना में सीट खोने वाली है।

एनडीए को 141 से 161 के बीच सीट मिल सकती हैं
वोट शेयर की बात करें तो, एनडीए को 2015 के 34.1 प्रतिशत वोट के मुकाबले इस बार 44.8 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं। जबकि यूपीए को 2015 में 41.9 प्रतिशत वोट मिले थे और इस बार उसे 33.4 प्रतिशत वोट मिलने की संभावना है। सीटों की बात करें तो, सर्वे में एनडीए को 141 से 161 के बीच सीट मिल सकती हैं। यूपीए को 64 से 84 के बीच सीट मिल सकती हैं। वहीं अन्य को 13 से 23 सीट मिलने का अनुमान है।

जनता फिर सेवा का मौका देगी, तो सेवा करूंगा: नीतीश
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को चुनाव आयोग द्वारा विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा का स्वागत करते हुए कहा कि जनता ही मालिक है। जनता फिर सेवा का मौका देगी, तो सेवा करूंगा। उन्होंने कहा कि अगर जनता सेवा का मौका देगी, तो सात निश्चय का भाग दो को लागू करूंगा, जिसके तहत सक्षम बिहार, स्वावलंबी बिहार और युवा शक्ति, बिहार की प्रगति मुख्य उद्देश्य होगा। चुनाव आयोग द्वारा तारीखों की घोषणा के बाद मुख्यमंत्री ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि जनता मालिक होती है और जनता सेवा का मौका देगी तो फिर सेवा करूंगा। सेवा करना हमारा धर्म है।

उन्होंने एक बार फिर बिहार के सभी लोगों को अपना परिवार बताते हुए कहा कि मेरे लिए तो पूरा बिहार ही परिवार है। उन्होंने कहा कि जनता ने 2005 से लगातार मौका दिया है और जनता को भरोसा है। मैंने जो भी वादा किया, उसे निभाया है। उन्होंने कहा कि युवाओं को नई तकनीक के आधार पर प्रशिक्षण दिलवाया जाएगा, जिससे उन्हें रोजगार मिल सके। उन्होंने कहा कि स्किल और उद्यमिता के लिए अलग विभाग बनवाया जाएगा।टिकट बंटवारे को लेकर पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि अभी तक बात नहीं हुई है। अब चुनाव की घोषणा हो गई है, मिल बैठकर बात होगी। लोजपा के साथ रिश्ते पर नीतीश कुमार ने कहा कि रामविलास पासवान से हमारा संबंध हमेशा से अच्छा रहा है।