बिहार सियासत: एबीवीपी के विरोध के बाद कन्हैया कुमार को पटना सत्याग्रह स्थल से जाना पड़ा

June 27th, 2022

डिजिटल डेस्क, पटना। पटना साहिब में सोमवार को कन्हैया कुमार और अन्य कांग्रेस नेताओं को उस समय अजीब स्थिति का सामना करना पड़ा, जब लोगों के एक वर्ग ने नारेबाजी की और उन्हें देशद्रोही कहा। कन्हैया कुमार सरकार की अग्निपथ योजना के खिलाफ कांग्रेस पार्टी द्वारा बुलाए गए एक दिवसीय सत्याग्रह में भाग लेने के लिए पटना साहिब रेलवे स्टेशन के पास शिकारपुर चौक गए थे। तथाकथित एबीवीपी के युवा विंग के नेताओं ने कार्यक्रम को बाधित कर दिया और उन्हें कार्यक्रम छोड़कर जाना पड़ा।

कन्हैया ने रविवार को बिहार के सभी 243 विधानसभा क्षेत्रों में अग्निपथ योजना के खिलाफ सोमवार को सुबह 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक सत्याग्रह की घोषणा की थी। सत्याग्रह कार्यक्रम के दौरान कन्हैया कुमार, प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, प्रवीण कुशवाहा आदि नेता कार्यक्रम स्थल पर मौजूद थे। जब कन्हैया भाषण के बीच में थे तो कुछ लोगों ने उनके खिलाफ नारेबाजी की और उन्हें देशद्रोही कहा। उन्होंने दावा किया कि कन्हैया कुमार केवल देश के खिलाफ बोलते हैं।

उन्होने अपनी शुरुआती भाषण में कहा, रक्षा में सेवा करना हर देशवासी के लिए गर्व की बात है लेकिन रक्षा में अनुबंध पर भर्ती बेहद खतरनाक है। कांग्रेस पार्टी देश भर में राष्ट्र विरोधी नीति अग्निपथ का विरोध कर रही है। यह युवाओं के भविष्य के साथ विश्वासघात है। इस भाषण के बाद कार्यक्रम स्थल पर मौजूद युवकों ने कन्हैया कुमार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी और हंगामा किया (उन्होंने) कन्हैया कुमार, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा और अन्य को कार्यक्रम स्थल छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया।

 

सोर्स- आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.