तमिलनाडु: तमिल साहित्य में करुणानिधि के योगदान के लिए चेन्नई में बनेगा स्मारक

July 22nd, 2022

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। तमिलनाडु सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत एम. करुणानिधि को तमिल साहित्य में उनके योगदान के लिए सम्मानित करने के लिए 42 मीटर लंबा विशाल स्मारक प्रस्तावित किया है। बंगाल की खाड़ी में मरीना समुद्र तट पर बनने वाले स्मारक की अनुमानित लागत 80 करोड़ रुपये से अधिक होगी।

मुथमीज अरिग्नार डॉ कलैगनार पेन स्मारक के प्रस्तावित स्थल को राज्य स्तर के अधिकारियों ने हरी झंडी दे दी है और केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय से मंजूरी की प्रतीक्षा है।स्मारक, तट से 360 मीटर की दूरी पर स्थित होगा और करुणानिधि के वर्तमान स्मारक, (जो निमार्णाधीन है) वहां तक पहुंचने के लिए आगंतुकों को एक पुल का उपयोग करना होगा।

तमिलनाडु सरकार के लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के अनुसार यह पुल लगभग 650 मीटर लंबा, 290 मीटर जमीन पर और 360 मीटर समुद्र के ऊपर होगा।स्वर्गीय करुणानिधि एक राजनेता, विद्वान व्यक्ति थे और उन्होंने कई पुस्तकें लिखीं। उन्हें तमिल साहित्य के विभिन्न पहलुओं में उनके योगदान के लिए जाना जाता है।

राज्य सरकार पहले से ही पेरारिग्नार अन्ना मेमोरियल और संग्रहालय परिसर में 39 करोड़ रुपये की लागत से दिवंगत मुख्यमंत्री के लिए एक स्मारक बनाने की प्रक्रिया में है और स्मारक इस परियोजना के अतिरिक्त है। पूर्व मुख्यमंत्रियों, दिवंगत एमजी रामचंद्रन और जे जयललिता के स्मारक भी मरीना समुद्र तट पर स्थित हैं।


डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.