दैनिक भास्कर हिंदी: Abu Dhabi Masters: फाइनल मैच हारकर भी 14 साल के निहाल सरीन बने ग्रैंडमास्टर

August 17th, 2018

हाईलाइट

  • मास्टर निहाल सरीन भारत के 53 वां ग्रैंडमास्टर बने।
  • निहाल यह उपलब्धि हासिल करने वाले जीएन गोपाल और एसएल नारायणन के बाद केरल के तीसरे खिलाड़ी हैं।
  • निहाल ने शतरंज में महारत हासिल कर अपने शहर में अंडर-25 टूर्नामेंट जीता था।

डिजिटल डेस्क,आबू धाबी। अंतरराष्ट्रीय ग्रैंडमास्टर निहाल सरीन बुधवार को अबू धाबी मास्टर्स के नौवें और फाइनल राउन्ड में हंगरी के रिचर्ड रैपपोर्ट से हारने के बाद भी भारत के 53वे ग्रैंडमास्टर बन गए हैं। केरल के 14 साल के इस खिलाड़ी ने संभावित नौ अंक में से 5.5 अंक जुटाए। उन्होंने अंतिम दौर से पहले ही ग्रैंडमास्टर नार्म हासिल कर लिया था। निहाल यह उपलब्धि हासिल करने वाले जीएन गोपाल और एसएल नारायणन के बाद केरल के तीसरे खिलाड़ी हैं। 

 

निहाल सरीन ने शतरंज छह साल की उम्र में खेलना शुरू किया था। उनके दादा ने उन्हें शतरंज खेलना सिखाया था। निहाल ने शतरंज में महारत हासिल कर अपने शहर में अंडर-25 टूर्नामेंट जीता था। उसके एक साल बाद ही वह भारत के 53वें ग्रैंडमास्टर बन गए हैं। इसके अलावा 14 वर्षीय निहाल कई बड़ी उपल्ब्धियां अपने नाम कर चुकें हैं। निहाल भारत के दूसरे सबसे यंग इंटरनेशनल मास्टर (आईएम), दुनिया के तीसरे सबसे कम उम्र वाले इंटरनेशनल मास्टर, दुनिया के सर्वश्रेष्ठ अंडर-14 खिलाड़ी और दुनिया के दूसरे सर्वश्रेष्ठ अंडर-18 खिलाड़ी भी हैं। 

 

टूर्नामेंट में 88 सदस्यीय भारतीय टीम में से चार खिलाड़ी ग्रैंडमास्टर और तीन अंतरराष्ट्रीय मास्टर नार्म हासिल करने में कामयाब रहे। सरीन के अलावा इरिगासि अर्जुन, हर्ष भर्थकोटी और पी इनियान ने अंतिम दिन ग्रैंडमास्टर नार्म हासिल किया। जबकि एआई मुथैया, वीएस राथनवेल और संकल्प गुप्ता अंतरराष्ट्रीय मास्टर नॉर्म हासिल करने में कामयाब रहे। 

 

 

 

 

खबरें और भी हैं...