दैनिक भास्कर हिंदी: ICC WWC : ये हैं महिला क्रिकेट टीम की 5 दिग्गज, मैच का रुख बदलने में माहिर

September 8th, 2018

हाईलाइट

  • ICC WWC में इंडियन टीम फाइनल में पहुंच गई हैं।
  • ये दूसरी बार है जब भारत वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा है।
  • इससे पहले इंडियन टीम 2005 में फाइनल में प्रवेश कर चुकी है

डिजिटल डेस्क, लंदन। ICC WWC में इंडियन टीम फाइनल में पहुंच गई हैं। भारत आज (रविवार) इंग्लैंड को टक्कर देगी। ये दूसरी बार है जब भारत वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा है। इससे पहले बार की शेरनियां 2005 में फाइनल में प्रवेश कर चुकी है लेकिन जीत नही पाई थी। वर्ल्ड कप में भारत के पिछले प्रदर्शनों को देखते हुए फाइनल मैच में जीत की उम्मीद की जा रही हैं। ये जीत भारतीय टीम के यहां तक के सफर में हर बार किसी न किसी खिलाड़ी ने अपने चमकदार प्रदर्शन से टीम को जीत दिलायी है। आइए देखते हैं टीम की वो कौन सी पांच खिलाड़ी हैं जो जीत की सुनिश्चित कर सकतीं हैं।

कप्तान मिताली राज

भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज इस World कप के दौरान महिला वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाली पहली महिला क्रिकेटर बन गई हैं। मिताली ने 6 हजार रन से ज्यादा रन बनाए हैं। भारतीय महिला क्रिकेट टीम में 18 सालों से मिताली अहम किरदार में रही हैं। वो विश्व कप के आठ मैचों में 392 रन बना चुकी हैं। 20 जुलाई को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए मैच के सेमीफाइनल में उन्होंने 36 रनों की अहम पारी खेली थी। फाइनल में उनसे देश को बड़ी उम्मीद हैं।

सेमी-फाइनल का सितारा हरमनप्रीत कौर

हरमनप्रीत कौर वर्ल्डकप सेमी-फाइनल में जीत का सितारा रहीं। हरमन ने ऑस्ट्रेलिया पर जीत हांसिल करने में अहम भूमिका निभाई। हरमन ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ नाबाद 171 रन बनाकर पूरे देश का दिल जीत लिया। हरमन ने केवल 115 गेंदों पर 20 चौकों और सात छक्के की मदद से अपनी टीम को 42 ओवरों में चार विकेट पर 281 के कुल स्कोर पर पहुंचा दिया। बारिश के कारण देर से शुरू हुए मैच में भारतीय टीम 36 रन से जीत गई और हरमनप्रीत कौर प्लेयर ऑफ मैच चुनी गईं। उनसे फाइनल में भी देश को बड़ी उम्मीद रहेगी।

छठे नंबर पर बल्लेबाज वेदा कृष्णमूर्ति

वेदा कृष्णमूर्ति ने ही टूर्नामेंट में 5 मैचों में 118 रन ही बना सकी है मगर न्यूजीलैंड के खिलाफ 15 जुलाई को खेले गए अहम मुकाबले में वेदा ने महज 45 गेंदों में 70 रन की पारी खेली थी। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 155.55 का रहा। साथ ही उन्होंने 7 चौके और 2 छक्के भी जड़े थे। वहीं वेदा ने सेमीफाइनल में महज 10 गेंदों में 16 रन बनाए। इससे साफ नजर आ रहा है कि वेदा शानदार फॉर्म में हैं और उनमें किसी भी पल मैच बदलने का माद्दा है। वेदा छठे नंबर पर बल्लेबाजी करतीं हैं। ऐसे में उनके पास स्थिति को समझने के लिए ज्यादा गेंदें खराब करने का मौका भी नहीं रहता। ऐसे में वेदा ने पिछली दो पारियां जिस कदर खेली हैं। उसके चलते भारत वेदा पर भरोसा जता सकता है।

आलराउंडर दीप्ति शर्मा

दीप्ति शर्मा खिलाड़ी टीम इंडिया के लिए शानदार आलराउंडर रही हैं। दीप्ति ने 8 मैचों की 7 पारियों में 202 रन बनाए हैं। उस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 78 रहा। दीप्ति ने इस टूर्नामेंट में दो अर्धशतक जड़े हैं। वहीं गेंदबाजी में दीप्ति टूर्नामेंट में चौथे पायदान पर हैं। उन्होंने 4.57 की इकॉनमी के साथ 12 विकेट झटके हैं। दीप्ति ने सेमीफाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के 3 अहम विकेट भी झटके थे।

सलामी बल्लेबाज पूनम राउत

सलामी बल्लेबाज पूनम राउत ने इस विश्व कप में अपनी बल्लेबाजी से टीम को कई बार उबारने का काम किया है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लीग मैच में शानदार शतक जड़ने के साथ-साथ पाकिस्तान के खिलाफ 47 रन की पारी खेलकर सभी को प्रभावित किया। वो अब तक टूर्नामेंट में 295 रन बना चुकी हैं।