comScore

AusOpen: 21 साल की सोफिया केनिन ने करियर का पहला ग्रैंड स्लेम खिताब जीता, फाइनल में गरबाइन मुगुरुजा को हराया


हाईलाइट

  • केनिन ने शनिवार को साल के पहले ग्रैंड स्लेम टेनिस टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीता
  • केनिन ने पहली बार ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब अपने नाम किया है
  • केनिन ने विमेंस सिंगल्स के खिताबी मुकाबले में मुगुरुजा को 4-6, 6-2, 6-2 से हराया

डिजिटल डेस्क। अमेरिका की सोफिया केनिन ने शनिवार को साल के पहले ग्रैंड स्लेम टेनिस टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीता। केनिन ने पहली बार ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब अपने नाम किया। उन्होंने विमेंस सिंगल्स के खिताबी मुकाबले में दो बार की ग्रैंड स्लैम चैंपियन स्पेन की गरबाइन मुगुरुजा को 4-6, 6-2, 6-2 से मात देकर अपने करियर का पहला ग्रैंड स्लेम खिताब जीता। दोनों खिलाड़ियों के बीच यह मुकाबला 2 घंटे 2 मिनट तक चला। 2008 में मारिया शारापोवा के बाद केनिन सबसे कम उम्र की ऑस्ट्रेलियन ओपन विमेंस सिंगल्स चैंपियन बन गई हैं। इसके अलावा वे अमेरिका के लिए ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतने वालीं 18वीं खिलाड़ी बन गईं हैं। 

केनिन ने खिताब जीतने के बाद कहा, मुझे यह टूर्नामेंट पसंद है। सबका शुक्रिया। अगले साल जरूर आने की कोशिश करूंगी। स्टेडियम में मौजूद दर्शकों का शुक्रिया। अपनी टीम, पिता को हमेशा साथ रहने के लिए धन्यवाद कहना चाहती हूं। मेरी मां घर पर मुझे देख रही होंगी। उन्हें भी शुक्रिया और प्यार।

सेमीफाइनल में केनिन ने वर्ल्ड नंबर-1 बार्टी को मात दी थी
इससे पहले गुरुवार को विमेंस सिंगल्स के सेमीफाइनल मैच में अमेरिका की सोफिया केनिन ने वर्ल्ड नंबर-1 ऑस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी को 7(8)-6(6), 7-5 से मात देकर टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया था। इस जीत के साथ ही केनिन ने पहली बार किसी ग्रैंड स्लेम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई थी। केनिन इससे पहले किसी भी ग्रैंड स्लैम के फाइनल तक नहीं पहुंची हैं। वह 2008 के बाद से इस टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश करने वाली सबसे युवा खिलाड़ी भी बनीं। 

मुगुरुजा ने सेमीफाइनल में वर्ल्ड नंबर-3 हालेप को हराया था
वहीं गरबाइन मुगुरुजा ने विमेंस सिंगल्स के सेमीफाइनल मैच में वर्ल्ड नंबर-3 रोमानिया की सिमोना हालेप को 7(10)-6(8), 7-5 से मात देकर फाइनल में जगह बनाई थी। इस जीत के साथ ही मुगुरुजा पहली बार ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में पहुंची थीं। मुगुरुजा ढ़ाई साल बाद किसी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची। इस टूर्नामेंट में मुगुरुजा को कोई सीड नहीं मिली थी। 2014 के बाद से यह पहली बार है, जब उन्हें किसी टूर्नामेंट में सीड नहीं दिया गया है। उन्होंने 2016 में फ्रेंच ओपन और 2017 में विंबलडन का खिताब जीता था।

कमेंट करें
ENBJL