दैनिक भास्कर हिंदी: व्हाइट बॉल क्रिकेट में कोहली की जगह किसी और को कप्तान बनाने की जरूरत नहीं

December 7th, 2020

हाईलाइट

  • व्हाइट बॉल क्रिकेट में कोहली की जगह किसी और को कप्तान बनाने की जरूरत नहीं

नई दिल्ली, 5 दिसंबर (आईएएनएस)। पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने शनिवार को कहा कि सीमित ओवरों के क्रिकेट के लिए विराट कोहली की जगह रोहित शर्मा को भारतीय टीम का कप्तान बनाने की जरूरत नहीं है।

लक्ष्मण ने विजयी लोकपल्ली और जी. कृष्णन द्वारा लिखित किताब द हिटमैन : द रोहित शर्मा स्टोरी के वर्चुअल विमोचन के दौरान यह बात कही।

लक्ष्मण ने कहा, इसमें कोई दोराय नहीं है कि वह एक शानदार कप्तान हैं। विराट की गैर मौजूदगी में वह काफी सफल रहे हैं। फ्रेंचाइजी (मुंबई इंडियंस) को पांच खिताब दिलाना आसान नहीं है।

उन्होंने कहा, जिस तरह से उन्होंने (रोहित) टीम का निर्माण किया है और कठिन परिस्थितियों में टीम को संभाल रहे हैं वह शानदार है। उनके पास भारत के लिए एक सफल कप्तान होने के सभी गुण हैं, लेकिन यहां पर बदलाव की आवश्यकता नहीं है। विराट को अभूतपूर्व सफलता मिली है और वह शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। मुझे कोई बदलाव करने की आवश्यकता नहीं है।

लक्ष्मण ने कहा कि रोहित का टेस्ट क्रिकेट में स्टॉप-स्टार्ट करियर रहा है।

उन्होंने कहा, उनका करियर मेरे करियर की याद दिलाता है। बिना ओपनिंग किए क्वालीटी गेंदबाजों के खिलाफ ओपनिंग करना आसान नहीं होता है। एक बार जब उनकी आंखे जम जाती है तो वह गेंदबाजों पर दबाव बना सकते हैं। मैं जानता था कि उनके अंदर कुछ अलग करने की क्षमता है। टेस्ट क्रिकेट में हम दोहरा शतक बनाने के लिए संघर्ष करते हैं और उन्होंने तो वनडे क्रिकेट में तीन बार दोहरा शतक लगाया है।

पुस्तक विमोच के समय भारत के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि समय आने पर रोहित टीम की बागडोर संभालने के लिए तैयार होंगे।

कुंबले ने कहा, जब हम उन्हें मुंबई इंडियंस में कप्तानी का प्रस्ताव देते थे तो वह बेहद आश्वस्त थे। यह स्वाभाविक रूप से उनके पास आया। वह चुनौती के लिए तैयार रहते हैं। अच्छा हम चर्चा कर रहे हैं कि हमारे पास एक दूसरे का विकल्प है। हम भाग्यशाली हैं कि हमारे पास रोहित हैं जो आईपीएल में सफल रहे हैं। जब समय आएगा और जरूरत है तो मुझे यकीन है कि वह तैयार होंगे।

कुंबले मुंबई इंडियंस के कोचिंग स्टाफ का हिस्सा रह चुके हैं।

ईजेडए/एसजीके