दैनिक भास्कर हिंदी: हार्दिक और केदार से क्यों खुश हुए विराट कोहली, पढ़िए यहां...

July 27th, 2017

डिजिटल डेस्क, किंगस्टन। 'हार्दिक पांड्या और केदार जाधव जैसे खिलाड़ियों को टीम में खेलते देख मुझे बहुत खुशी होती है। सबसे ज्यादा खुशी इस बात की है कि इन खिलाड़ियों की खोज मैंने की  हैं। ये दोनों खिलाड़ी भारतीय टीम के निचले क्रम को एक शानदार आक्रमकता प्रदान करते हैं।' ये बातें भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ पांचवां मैच जीतने के बाद कहीं हैं।

वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैचों की श्रृंखला में अपेक्षाओं के विपरीत कोहली ने टीम में कोई प्रयोग नहीं किए। उन्होंने श्रृंखला 3-1 से जीतने के बाद कहा, आप किसी भी टीम को हलके में नहीं ले सकते। आप हार्दिक या केदार को तीसरे या चौथे नंबर पर नहीं उतार सकते और न ही शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों को नीचे उतार सकते हैं। यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट है और आपको विरोधी टीम का सम्मान करना ही होगा। आपको यह समझाना होगा कि टीम के लिए क्या जरूरी है और उस पर अडिग रहना होगा।

उन्होंने कहा, हम उन्हें आत्मविश्वास देते रहते हैं और दोनों अपना प्रभाव छोड़ने को बेताब हैं। हमें उनकी क्षमता पर यकीन है और हमें खुशी है कि निचले क्रम पर हमारे पास ऐसे दो आक्रमक बल्लेबाज हैं। कोहली ने कल 18वां शतक जमाकर लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे ज्यादा शतक लगाने का सचिन तेंदुलकर का रिकार्ड तोड़ा। विराट ने कहा, अंतरराष्ट्रीय क्रिकट में सफलता का राज यह है कि आपको गलतियों पर अंकुश लगाना होता है। मैं कई बार एक ही तरीके से आउट हुआ और मुझे यह पसंद नहीं है।

गौरतलब है कि हार्दिक पंड्या और केदार जाधव एक अच्छे ऑलराउंडर खिलाड़ी भी हैं। बल्ले के साथ-साथ पंड्या अपनी तेज रफ्तार गेंदबाजी से भी विरोधी टीम को धराशाही करने में महारत रखते हैं, तो वहीं केदार की फिरकी भी किसी भी टीम को उलझाने के लिए काफी है। कई मौकों पर दोनों ने अपने बल्ले की चमक भी बिखेरी है। आपको चेंपियन्स ट्रॉफी का फाइनल मैच तो याद ही होगा, जिसमें पंड्या ने शानदार 43 गेंदों पर शानदार 76 रन बनाए थे। हांलाकि भारतीय टीम यह मैच हार गई थी।