दैनिक भास्कर हिंदी: World Boxing Championship AIBA: पिंकी-सोनिया प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंची

November 19th, 2018

हाईलाइट

  • 48 किलोग्राम भारवर्ग में पिंकी ने अनुश ग्रिगोरयान को 4-1 से हराया
  • सोनिया ने मोरक्को की तोजानी दोआ को 5-0 से हराकर प्रि-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई
  • 64 किलोग्राम भारवर्ग में सिमरनजीत ने अमेरिका की एमेलिया मूरे को 4-1 से मात दी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। AIBA वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप के 10वें संस्करण में शनिवार को भारतीय मुक्केबाज पिंकी रानी ने प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। इससे पहले भारत की सोनिया लाठेर ने भी 54-57 किग्रा फेदरवेट कैटेगरी के प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया है। इन दोनों के अलावा सिमरनजीत कौर ने भी 64 किलोग्राम भारवर्ग में अपना मुकाबला जीतते हुए अगले दौर में जगह बनाई है। 

48 किलोग्राम भारवर्ग में पिंकी ने अनुश ग्रिगोरयान को 4-1 से मात देकर  प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया है। पिंकी ने पूरे मुकाबले में अच्छा प्रदर्शन करते हुए अपनी विपक्षी खिलाड़ी को कोई मौका नहीं दिया और मुकाबला अपने नाम किया। वहीं 54-57 फेदरवेट किग्रा भारवर्ग में सोनिया ने मोरक्को की तोजानी दोआ को 5-0 से हराकर प्रि-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। 64 किलोग्राम भारवर्ग में सिमरनजीत ने अमेरिका की एमेलिया मूरे को 4-1 से हराया और अगले दौर में प्रवेश किया। 

पिंकी ने मैच जीतने के बाद कहा कि, मैं जीत को लेकर आश्वस्त थीं और मुझे अपने ऊपर पूरा भरोसा था। यह टूर्नामेंट का मेरा पहला मुकाबला था। कोई भी मुक्केबाज किसी भी भारवर्ग में कम नहीं हैं। इसलिए जरूरी है कि आप हर खिलड़ी के खेल को देखें और फिर उस हिसाब से उस खिलाड़ी के लिए अपनी रणनीति बनाएं। उन्होंने कहा,  मुकाबले के दूसरे राउंड में मेरे प्रशिक्षकों ने कहा कि विपक्षी खिलाड़ी से थोड़ी दूरी बनाकर खेलो और मौका मिलने पर आक्रमण करो, मैंने वैसा ही किया। अब चैंपियनशिप के अगले दौर में पिंकी का सामना इंग्लैंड की एलिस लिली से होगा। 

अपना मुकाबला जीतने के बाद सोनिया ने कहा, "यह अच्छी बाउट थी। मैंने अच्छा मुकाबला लड़ा। मैं पूरे आत्मविश्वास और जी-जान के साथ लड़ी। वह मुझे पकड़ने की कोशिश कर रही थी, लेकिन मैं उसके नजदीक नहीं गई। एक दो बार मैं जब नजदीक गई तो उसने मुझे गिरा दिया, इसलिए मैंने फासला रखकर उस पर अटैक किया। उन्होंने कहा, मुझे खुशी है कि मैं अपने कोच की उम्मीदों पर खरी उतरी।