दैनिक भास्कर हिंदी: यादव, किशन : मुंबई इंडियंस के मध्य क्रम के हीरो

November 13th, 2020

हाईलाइट

  • यादव, किशन : मुंबई इंडियंस के मध्य क्रम के हीरो

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मुंबई इंडियंस अपना पांचवां खिताब जीतने में सफल रही है। उसकी इस जीत के दो बड़े नायक रहे सूर्यकुमार यादव और ईशान किशन। यह दोनों सुपरस्टार की भीड़ में मध्य क्रम को संभाले रहे। किशन ने 57.33 की औसत से 516 रन बनाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 145.76 रहा। वहीं सूर्यकुमार ने 145.01 की स्ट्राइक रेट से 480 रन बनाए। यह दोनों सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में क्रमश: पांचवें और सातवें स्थान पर रहे।

शीर्ष-10 बल्लेबाजों की सूची में इन दोनों से बेहतर स्ट्राइक रेट सिर्फ रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के अब्राहम डिविलियर्स का है। क्विंटन डी कॉक ने सलामी बल्लेबाज के तौर पर टीम को मजबूत शुरुआत देने की जिम्मेदारी को बखूबी निभाया था तो वहीं इन दोनों ने मध्य क्रम को अपने कंधों पर उठाए रखा, उस मध्य क्रम को जो पिछले सीजन रोहित के मुताबिक कमजोर था।

रोहित ने मंगलवार को खेले गए फाइनल से पहले कहा था, हमने पिछले सीजन चर्चा की थी हमारा मध्य क्रम चल नहीं रहा है। ईशान ने वहां आकर शानदार काम किया है। वह अपने खेल को समझ रहे हैं और मैदान पर कई जगह रन बना रहे हैं। यह उन्हें खतरनाक बल्लेबाज बनाता है। सूर्या के बारे में मैंने पहले भी कहा है कि वह परिपक्व खिलाड़ी हैं। मैंने उन्हें सीजन दर सीजन मजबूत होते देखा है।

रोहित ने कहा, सूर्या ने अपने खेल को अलग स्तर पर पहुंचा दिया है। उनके बारे में मुझे एक बात जो अच्छी लगी वो यह है कि वह जिस तरह से अपना टेम्पो बनाए रखते हैं, मायने नहीं रखता कि उनके साथ कौन बल्लेबाजी कर रहा है या कितने विकेट गिर चुके हैं। यह एक अच्छे खिलाड़ी की निशानी होती है। अगर कोई इस टेम्पो से बल्लेबाजी कर सकता है, स्ट्राइक रोटेट कर सकता है, लगातार बाउंड्रीज लगा सकता है, इससे नॉन स्ट्राइकर छोर पर जो खिलाड़ी हैं उनका काम आसान हो जाता है। नंबर-3 का स्थान काफी अहम होता है। उन्होंने यहां अच्छा किया है।

ईशान ने फाइनल के बाद कहा था, सीजन की शुरुआत में मेरी फिटनेस अच्छी नहीं थी। मैंने हार्दिक भाई और क्रुणाल भाई से बात की और कहा कि मैं अपनी फिटनेस पर काम करना चाहता हूं। मैं बल्ले से वो करना चाहता था जो टीम के लिए अच्छा हो।