मंकीपॉक्स का डर: चीन में मंकीपॉक्स का पहला मामला सामने आते ही अधिकारियों ने की अपील- विदेशियों को मत छुओ

September 18th, 2022

हाईलाइट

  • चीन में मंकीपॉक्स का पहला मामला चोंगकिंग में सामने आया

डिजिटल डेस्क, बीजिंग। चीन में मंकीपॉक्स का पहला मामले सामने आया है। इसको लेकर शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी ने लोगों से विदेशियों को न छूने की चेतावनी दी है। चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुख्य महामारी विज्ञानी वू जुनयू ने शनिवार को चीन के ट्विटर प्लेटफॉर्म वीबो पर पोस्ट करते हुए लिखा, देश के कोविड-19 प्रतिबंधों और कड़े बॉर्डर कंट्रोल ने अब तक मंकीपॉक्स के प्रसार को रोका है।

चीन में मंकीपॉक्स का पहला मामला चोंगकिंग में सामने आया है। स्थानीय अधिकारियों के अनुसार, संक्रमण का पता तब चला, जब विदेश से आए एक शख्स को कोविड-19 के तहत क्वारंटीन किया गया था। हालांकि, यह नहीं बताया गया है कि मंकीपॉक्स संक्रमित व्यक्ति चीनी है या विदेशी नागरिक।

मंकीपॉक्स से संक्रमित व्यक्ति को बुखार के लक्षण आते हैं और शरीर पर छाले जैसे कई घाव बन जाते हैं। मंकीपॉक्स की दोबारा शुरूआत इसी साल मई में हुई है। यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, इस साल अब तक अमेरिका में 23,500 मामले सामने आए हैं। वू ने अपने पोस्ट में अंतरराष्ट्रीय यात्रा और संपर्क से फैलने वाली बीमारी के जोखिम पर जोर देते हुए लिखा, मंकीपॉक्स की निगरानी और रोकथाम को मजबूत करना आवश्यक और महत्वपूर्ण है।

उन्होंने जनता के लिए पांच अपील की, जिसमें पहली विदेशियों के साथ त्वचा से त्वचा का संपर्क न करने की थी। उनके इस अपील ने चीनी सोशल मीडिया पर विवाद पैदा कर दिया। कुछ लोगों ने उनकी सलाह को उचित बताया तो कुछ ने इस पर गुस्से का भी इजहार किया। एक वीवो यूजर ने लिखा, देश की सीमाएं खोलना अच्छा है, लेकिन हम सब कुछ अंदर नहीं आने दे सकते हैं।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.