दैनिक भास्कर से विशेष चर्चा : शशि थरूर ने कहा - कांग्रेस अध्यक्ष के कहने पर ही लड़ रहा हूं चुनाव

October 2nd, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कांग्रेस के अध्यक्ष पद को लेकर राजनीतिक उठापटक के बीच बतौर उम्मीदवार नामांकन दर्ज करा चुके शशि थरूर ने जोर देकर कहा है कि इस चुनाव में कोई छिपा हुआ खेल नहीं है। बकौल थरूर-कांग्रेस के वर्तमान अध्यक्ष के कहने पर ही चुनाव लड़ रहा हूं। गांधी परिवार ने कोई भी उम्मीदवार अधिकृत नहीं किया है। यह चुनाव निष्पक्ष होगा। किसी तरह की खानापूर्ति नहीं होगी। शनिवार को दैनिक भास्कर से विशेष चर्चा में थरूर ने दावा किया कि इस चुनाव में कांग्रेस के सामान्य कार्यकर्ताओं की उम्मीद सफल रहेगी। अध्यक्ष पद के लिए वरिष्ठ नेता मलिकार्जुन खड़गे ने भी नामांकन दर्ज किया है। उनकी उम्मीदवारी को लेकर थरूर ने कहा-मैं खड़गे का सम्मान करता हूं। वे हमारे नेता हैं। उनके नेतृत्व कौशल पर भी संदेह नहीं है, लेकिन संगठन में एक वर्ग ऐसा भी है, जो नए बदलाव की अपेक्षा के साथ मुझे चुनाव लड़ने के लिए कह रहे हैं। सामान्य कार्यकर्ताओं का मत ही कांग्रेस का नया अध्यक्ष तय करेगा। 

कोई प्रतिद्वंदिता नहीं है : थरूर ने यह भी कहा कि खड़गे के साथ चुनाव में कोई प्रतिद्वंदिता नहीं है। खड़गे के नेतृत्व पर सवाल नहीं उठाया जा सकता है, लेकिन संगठन में ही एक ऐसा वर्ग भी है, जो चाहता है कि युवाओं के नेतृत्व के तौर पर उन्हें यानी थरूर को सामने आना चाहिए, इसलिए यह चुनाव फ्रेंडली अर्थात दोस्ताना लड़ने की तैयारी है। खड़गे के साथ बड़े नेता दिख रहे हैं, लेकिन मेरे साथ साधारण कार्यकर्ता हैं। चुनाव में बड़े व साधारण कार्यकर्ता के मतों का महत्व समान है। चुनाव को लेकर विविध चर्चाएं चल रही हैं, फिर भी सामान्य कार्यकर्ता साथ है, इसलिए कार्यकर्ताओं का साथ नहीं छोड़ेंगे।

दिल्ली से अनुमति न लेनी पड़े : संगठन में कुछ बदलाव की मांग की जा रही है। राज्य के पदाधिकारियों को अधिकार मिलना चाहिए। प्रदेश स्तर पर प्रभारी व महासचिवों का निर्देश चलता है। जिला पदाधिकारी की नियुक्ति के लिए भी दिल्ली से अनुमति लेनी पड़ रही है। हमारा प्रयास रहेगा कि इन नियुक्तियों के लिए दिल्ली से अनुमति लेने की आवश्यकता न हो। संगठन में कार्यक्षेत्र व अधिकार का विकेंद्रीकरण होना चाहिए। 

थरूर ने कहा कि संविधान रचना के लिए ड्राफ्टिंग कमेटी का अध्यक्ष डॉ. बाबासाहब आंबेडकर को बनाया गया। कांग्रेस के साथ से ही वे अध्यक्ष बने थे। कांग्रेस ने सदैव दलित समाज के उत्थान के लिए कार्य किया है। चर्चा के समय पूर्व विधायक आशीष देशमुख व अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। चर्चा के समय पूर्व विधायक आशीष देशमुख उपस्थित थे।

चर्चा है कि खड़गे को सोनिया गांधी व राहुल गांधी का समर्थन मिला है। इस संबंध में सवाल पर थरूर ने कहा कि फिलहाल गांधी परिवार ने किसी को अधिकृत उम्मीदवार नहीं बनाया है। उन्होंने सोनिया, राहुल व प्रियंका गांधी से चर्चा की है। गांधी परिवार और संगठन की मशीनरी ने इस चुनाव में निष्पक्ष रहने का निर्णय लिया है।