comScore

CORONAVIRUS: लॉकडाउन में घर पर नहीं होंगे बोर, आजमाएं सुनिल ग्रोवर की ये खास तरकीब, देखें वीडियो

CORONAVIRUS: लॉकडाउन में घर पर नहीं होंगे बोर, आजमाएं सुनिल ग्रोवर की ये खास तरकीब, देखें वीडियो

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण पर रोक लगाने के लिए भारत सरकार ने 21 दिनों का लॉकडाउन घोषित किया है। अब ऐसे में सबसे बड़ी समस्या ये है कि आखिर 21 दिनों तक घर में करें क्या? हालांकि टीवी और बॉलीवुड के तमाम बड़े सितारे घर का कामकाज करते नजर आ रहे हैं, लेकिन टीवी स्टार सुनिल ग्रोवर की ये तरकीब आपकी बोरियत को कम कर देगा। दरअसल, सुनिल ग्रोवर ने एक वीडियो शेयर करते हुए लॉकडाउन में बोरियत से बचने का उपाय बताया है। उनके इस कमाल के वीडियो को फैंस खूब पसंद कर रहे हैं। 

कॉमेडी के बादशाह सुनील ग्रोवर बड़े ही खास अंदाज में अपने फैंस के लिए घर पर टाइम पास करने का उपाय लेकर आए हैं। दरअसल लॉकडाउन के बावजूद कुछ लोग घरों से बाहर निकलने से बाज नहीं आ रहे हैं। लोगों के इस लापरवाह रवैये से कई स्टार्स ने अपनी नाराजगी जाहिर की है, लेकिन सुनील ग्रोवर ने उन लोगों पर मजाकिया अंदाज में कमेंट किया है। 

ऐसे करें बोरियत को दूर
सुनील ग्रोवर ने एक वीडियो शेयर करते हुए बोरियत को कम करने का उपाय बताया है, जिसमें उनके हाथ में दो कटोरी नजर आ रही हैं। इनमें से एक में चावल हैं तो एक में दाल। सुनील ग्रोवर ने दोनों को मिक्स कर दिया और फिर दोनों को अलग-अलग करने लगे। इस वीडियो को शेयर करते हुए उन्होंने बताया कि वो सुबह से तीन बार इसे सॉल्व कर चुके हैं ये एक मजेदार गेम है। घर पर रहिए और सुरक्षित रहिए।

VIDEO ALBUM RELEASE: गाने में सिडनाज के बीच दिखी जबरदस्त केमेस्ट्री, फैंस का मिल रहा अच्छा रिस्पॉन्स

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

On repeat mode. I have solved it 3 times since morning! Stay home, Stay safe.

A post shared by Sunil Grover (@whosunilgrover) on

फैंस के सावल पर सुनिल के मजेदार कमेंट
कॉमेडी किंग के इस वीडियो पर फैंस के भी मजेदार रिएक्शन सामने आए हैं। फैंस सुनील के इस गेम के अलावा उनसे पूछ रहे हैं कि वो कैसे घर में वक्त बिता रहे हैं। एक फैन ने पूछा कि क्या वो घर में खाना बनाने के लिए चावल और दाल को अलग कर रहे हैं। इसके जवाब में सुनील मे कहा कि घर पर तो आलू गोभी बनी है, ये तो गेम है।

CORONA VIRUS: आइसोलेशन में हिना और करिश्मा बनी गृहणी, देखें वीडियो

बता दें, लॉकडाउन के बावजूद लोगों के लापरवाह रवैये से कई बॉलीवुड स्टार्स ने भी नाराजगी जाहिर की है। अक्षय कुमार ने जहां वीडियो शेयर कर नाराजगी जताई है तो वहीं सोनू सूद ट्वीट कर लापरवाह लोगों को लताड़ा है।

कमेंट करें
jntp0
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।