comScore

जवाब: क्लार्क के कमेंट पर बोले टिम पेन- हम किसी को उकसाना नहीं चाहते थे, इसलिए कोहली के खिलाफ स्लेजिंग नहीं की

जवाब: क्लार्क के कमेंट पर बोले टिम पेन- हम किसी को उकसाना नहीं चाहते थे, इसलिए कोहली के खिलाफ स्लेजिंग नहीं की

हाईलाइट

  • क्लार्क ने कहा था कि, IPL कॉन्ट्रैक्ट के लिए हमारे खिलाड़ियों कोहली के खिलाफ स्लेजिंग नहीं करते
  • टिम पेन ने कहा, हम किसी को उकसाना नहीं चाहते थे, इसलिए कोहली के खिलाफ स्लेजिंग नहीं की

डिजिटल डेस्क। ऑस्ट्रेलिया टीम के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने बीते दिनों एक बयान में कहा था की, ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी IPL में खेलने के लिए विराट कोहली पर स्लेजिंग करने से डरते हैं। क्लार्क ने कहा कि, ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी इस कदर भारतीय कप्तान से भय खाते हैं कि इसके कारण उनका आक्रामक रवैया ढीला पड़ गया है। वहीं क्लार्क की इस बात का जवाब देते हुए ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान टिम पेन ने कहा कि, हम किसी खिलाड़ी को उकसाना नहीं चाहते थे। इस कारण से हमने कोहली समेत भारतीय खिलाड़ियों पर 2018-19 में सीरीज के दौरान स्लेजिंग नहीं की थी। यह टेस्ट सीरीज भारत ने 2-1 से जीती थी। 

पेन ने कहा, मैंने नहीं देखा कि बहुत ज्यादा लोग कोहली से अच्छा व्यवहार करते हैं और उन्हें आउट करने की कोशिश नहीं करते। पेन ने कहा, मुझे लगता है कि जिसके भी हाथ में गेंद थी और जब हम बल्लेबाजी कर रहे थे, सभी उस समय मैच जीतना चाहते थे। मुझे नहीं पता कि, कौन उनसे बच रहा था, लेकिन हम ऐसा कुछ नहीं करना चाहते थे जिससे उनके साथ लड़ाई हो क्योंकि वह ऐसी स्थिति में सर्वश्रेष्ठ खेलते हैं।

यह खबर भी पढ़ें - क्रिकेट: विवियन रिचर्ड्स ने कहा- बिना हेलमेट बल्लेबाजी करते मर भी जाता तो फर्क नहीं पड़ता

कोहली पर स्लेजिंग करने से डरते हैं
इसके पहले क्लार्क ने आरोप लगाया था कि, हर कोई जानता है कि जब खेल की आर्थिक स्थिति की बात होती है तो भारत IPL के कारण कितना मजबूत है, अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू स्तर पर भी। उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट और शायद बाकी टीमें भी कुछ दिनों से अलग राह पर चली गई हैं और भारत की चापलूसी करती हैं। वह कोहली और अन्य खिलाड़ियों पर स्लेजिंग करने से डरते हैं, क्योंकि उन्हें अप्रैल में उनके साथ खेलना होता है।  

क्लार्क ने कहा था कि, कई भारतीय खिलाड़ी IPL टीमों के कप्तान हैं और इसी कारण ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी उनके साथ उलझना नहीं चाहते हैं। उन्होंने कहा, 10 खिलाड़ियों के नाम लीजिए और यह खिलाड़ी उन ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के लिए IPL में बोली लगाते हैं।

यह खबर भी पढ़ें - क्रिकेट: लॉकडाउन में भी कोहली एंड कंपनी की फिटनेस पर ट्रेनर की कड़ी नजर

बॉल टेम्परिंग विवाद के पहले से ही खिलाड़ियों का व्यवहार औसत
वहीं ICC एलीट पैनल के पूर्व अंपायर इयान गाउल्ड ने कहा है कि, ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर बॉल टेम्परिंग विवाद के 2-3 साल पहले से ही औसत इंसान की तरह व्यवहार करने लगे थे। गाउल्ड ने टीवी पर देखने के बाद मैदानी अंपायरों को खिलाड़ियों के पास सैंडपेपर होने की जानकारी दी थी।। गाउल्ड ने कहा, ‘मुझे पता नहीं था कि विवाद के क्या परिणाम होंगे। मैं केवल यही सोच रहा था कि, खिलाड़ी के पास से सैंडपेपर बाहर करवा सकूं।


 

कमेंट करें
erAiq