comScore

Lockdown 5.0 Update: कोरोना कहर के बीच देश में आज से अनलॉक-1 की शुरुआत, आवाजाही समेत मिलेंगी कई छूट


हाईलाइट

  • कोरोना संकट के बीच भारत में अनलॉक 1.0 की शुरुआत
  • देश में कहीं भी आने जाने और अंतर्राज्यीय यात्रा की छूट

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। नोवल कोरोना वायरस के कारण देश में लागू लॉकडाउन का आज से (1 जून) पांचवां चरण यानी लॉकडाउन 5.0 शुरू हो गया है। इसे अनलॉक 1.0 माना जा रहा है क्योंकि अब करीब दो महीने से बंद पड़े देश को दोबारा खोलने का आगाज हो गया है, ऐसे में सोमवार से एक बार फिर सड़कों पर लोगों की आवाजाही देखने को मिलेगी। लॉकडाउन 5.0 में सरकार ने कंटेनमेंट जोन्स को छोड़कर बाकी पूरे देश में काफी हद तक छूट दी है। यूं तो केंद्र ने 8 जून से चरणबद्ध तरीके से ढील देने की बात कही है, लेकिन सोमवार से देश में कहीं भी आने जाने, इंटर स्टेट यात्रा और बसों आदि के संचालन की इजाजत है। इसके अलावा कई राज्य सरकारों ने भी अपने प्रदेश में काफी छूट दी हैं।

हालांकि केंद्र ने भले ही काफी छूट देने का ऐलान कर दिया है, लेकिन कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए राज्य और जिला स्तर पर अंतिम फैसला होना है। उत्तर प्रदेश सरकार ने कहा है कि, अंतर्राज्यीय यात्रा पर कोई प्रतिबंध नहीं है, लेकिन दिल्ली से सटे लोगों की आवाजाही पर फैसला गाजियाबाद और नोएडा के जिला प्रशासनों पर छोड़ दिया गया है। जिसके बाद फैसला लिया गया है कि अभी भी दिल्ली-नोएडा बॉर्डर बंद रहेगा।

आज से देश में चलेंगी 200 ट्रेनें

COVID-19 World: अमेरिका में 24 घंटे में 598 की मौत, दुनियाभर में 3 लाख 73 हजार से ज्यादा ने गंवाई जान

- राजस्थान में सोमवार से राज्य परिवहन की बसें चलाई जाएंगी, लेकिन शॉपिंग मॉल, स्कूल-कॉलेज और धार्मिक स्थान बंद रहेंगे।

- पश्चिम बंगाल में छूट मिलने के बाद खुले कई मंदिर। सिलीगुड़ी के मंदिर में भी पूजा करने पहुंचे लोग।

- गुजरात स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन ने शुरू कीं सेवाएं।

- हरियाणा सरकार ने कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ा दिया है। इन इलाकों को चरणबद्ध तरीके से बाद में खोला जाएगा।

उत्तर प्रदेश पूरा खोला गया
उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा छूट के ऐलान के बाद पूरा राज्य खोल दिया गया है। यूपी सरकार के मुख्य सचिव की ओर से जारी दिशा-निर्देशों में कहा गया है, राज्य में 1 से 30 जून तक लॉकडाउन जारी रहेगा। कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से छूट दी जाएंगी। 1 मई से ये छूट लागू हो रही हैं-

- यूपी में बाजार सुबह 9 से रात 9 बजे तक खुलेंगे। सुपर मार्केट भी खोलने के आदेश दिए गए। सैलून और ब्यूटी पॉर्लर खोले जा सकेंगे लेकिन सैलून में फेस मास्क लगाना जरूरी होगा।

- सभी सरकार दफ्तर तीन शिफ्ट में खुलेंगे। 30 लोगों के साथ बारात घर खोलने की अनुमति, लेकिन बारात में हवाई फायरिंग पर सख्त रोक है।

- टैक्सी, कैब और ई-रिक्शा को भी इजाजत। स्कूटर या मोटरसाइकिल पर दो लोगों को छूट।

- फल मंडी सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक खुलेगी। शहरी क्षेत्र में साप्ताहिक मंडी नहीं खोली जा सकेगी। ग्रामीण क्षेत्र में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मंडी खोली जाएगी।

- रोडवेज बस चलाने की भी अनुमति लेकिन बसों में सीट के हिसाब से ही सवारी बैठाना होना। सवारी खड़ी करके ले जाने की अनुमति नहीं। प्राइवेट बसें भी शर्तों के साथ चलाई जाएंगी।

- पार्क सुबह और शाम 5 से 8 बजे तक खोले जाएंगे।

- खेल परिसर और स्टेडियम खोलने के भी आदेश।

- मिठाई की दुकानों में बिठाकर खिलाया नहीं जा सकेगा।

- स्वास्थ्य विभाग की अनुमति से नर्सिंग होम व प्राइवेट अस्पताल इमरजेंसी सेवा या ऑपरेशन के लिये खोलने की इजाजत।

- पास के बिना भी पूरे राज्य में कहीं भी आ-जा सकेंगे।

- रात 9 से सुबह 5 बजे तक जरूरी सेवाओं को छोड़कर कोई भी व्यक्ति या वाहन सड़क पर नहीं जा सकेगा।

- मंदिर-मस्जिद समेत तमाम धार्मिक स्थल 8 जून से खोले जा सकेंगे।

- होटल व रेस्टोरेंट भी 8 जून से ही खोले जाएंगे।

- शॉपिंग मॉल्स खोलने की इजाजत भी 8 जून से ही दी गई है।

कमेंट करें
uIxom
NEXT STORY

Paytm Money: अब पेटीएम मनी ऐप से हर कोई कर सकता है स्टॉक मार्किट में  निवेश, कंपनी का 10 लाख निवेशकों को जोड़ने का लक्ष्य

Paytm Money: अब पेटीएम मनी ऐप से हर कोई कर सकता है स्टॉक मार्किट में  निवेश, कंपनी का 10 लाख निवेशकों को जोड़ने का लक्ष्य

डिजिटल डेस्क, दिल्ली। भारत के घरेलु वित्तीय सेवा प्रदाता पेटीएम ने आज घोषणा की है कि इसकी पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी पेटीएम मनी ने देश में सभी के लिए स्टॉकब्रोकिंग की सुविधा शुरू कर दी है। कंपनी का लक्ष्य इस वित्त वर्ष में 10 लाख से अधिक निवेशकों को जोड़ना है, जिसमें अधिकतर छोटे शहरों और कस्बों से आने वाले फर्स्ट टाइम यूजर्स होंगे। इस प्रयास का उद्देश्य उत्पाद के आसान उपयोग, कम मूल्य निर्धारण (डिलीवरी ऑर्डर पर जीरो ब्रोकरेज, इंट्राडे के लिए 10 रुपये) और डिजिटल केवाईसी के साथ पेपरलेस खाता खोलने के साथ निवेश को प्रोत्साहित करना तथा अधिक-से-अधिक लोगों तक पहुंचना है। कंपनी भारत में सबसे व्यापक ऑनलाइन वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफार्म बनने के लिए प्रयासरत है, जो वित्तीय समावेशन के लक्ष्य के तहत आम लोगों तक आसानी से पहुंच सके।

पेटीएम मनी को अपने शुरुआती प्रयास में ही लोगों से भारी प्रतिक्रिया मिली और उसने 2.2 लाख से अधिक निवेशकों को अपने साथ जोड़ लिया। इनमें से, 65% उपयोगकर्ता 18 से 30 वर्ष के आयु वर्ग में हैं, जो दर्शाता है कि नई पीढ़ी अपनी वेल्थ पोर्टफोलियो का निर्माण कर रही है। टियर-1 शहरों जैसे मुंबई, बैंगलोर, हैदराबाद, जयपुर और अहमदाबाद में इस प्लेटफार्म को बड़े स्तर पर अपनाया गया है। ठाणे, गुंटूर, बर्धमान, कृष्णा, और आगरा जैसे छोटे शहरों में भी लोगों का भारी झुकाव देखने को मिला है। यह सेवा सुपर-फास्ट लोडिंग स्टॉक चार्ट्स, ट्रैक मार्केट मूवर्स एंड कंपनी फंडामेंटल्स सुविधाओं के साथ अब आईओएस, एंड्रॉइड और वेब पर उपलब्ध है। पेटीएम मनी ऐप शेयरों पर निवेश, व्यापार और सर्च के लिए प्राइस अलर्ट और एसआईपी सेट करने के लिए आसान इंटरफ़ेस प्रदान करता है।

इस अवसर पर पेटीएम मनी के सीईओ, वरुण श्रीधर ने कहा, "हमारा उद्देश्य वेल्थ मैनेजमेंट सेवाओं को आबादी के बड़े हिस्से तक पहुंचाना है, जो आत्मानिर्भर भारत के लक्ष्य में योगदान करेगी। हमारा मानना है कि यह मिलेनियल और नए निवेशकों को उनके वेल्थ पोर्टफोलियो के निर्माण में सक्षम बनाने का समय है। प्रौद्योगिकी पर आधारित हमारे समाधान शेयर में निवेश को सरल और आसान बनाता है। हम वर्तमान उत्पादों को चुनौती देते रहेंगे और भारत के सर्वश्रेष्ठ उत्पाद का निर्माण करते रहेंगे। हम पेटीएम मनी को सभी भारतीय के लिए एक व्यापक वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफार्म बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। "

इतने कम समय में पेटीएम मनी पर स्टॉक ट्रेडिंग को व्यापक रूप से अपनाया जाना काफी महत्व रखता है। यह हर भारतीय के लिए डिजिटल निवेश को आसान बनाने के कंपनी के प्रयासों की सराहना को भी दर्शाता है। शेयरों में आसान निवेश के साथ, प्लेटफॉर्म उपयोगकर्ता को बाजार के बारे में शोध करने, मार्केट मूवर्स का पता लगाने, अनुकूल वॉचलिस्ट तैयार करने और 50 से अधिक शेयरों के लिए प्राइस अलर्ट सेट करने के अवसर प्रदान करता है। इसके अलावा, उपयोगकर्ता स्टॉक के लिए साप्ताहिक / मासिक एसआईपी सेट कर सकते हैं, और स्टॉक में निवेश को आॅटोमेट कर सकते हैं। बिल्ट-इन ब्रोकरेज कैलकुलेटर के साथ, निवेशक लेनदेन शुल्क का पता लगा सकते हैं और शेयरों को लाभ पर बेचने के लिए ब्रेक-इवेन प्राइस जान सकते हैं। इसके अलावा, स्टॉक ट्रेडिंग के अनुभव को और बेहतर बनाने के लिए एडवांस्ड चार्ट और अन्य विकल्प जैसे कवर चार्ट तथा ब्रैकेट ऑर्डर भी जोड़े गए हैं। इन सुविधाओं के अलावा बैंक-स्तरीय सुरक्षा के साथ निवेशकों के व्यक्तिगत डेटा को सुरक्षित रखते हुए अन्य सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी।


पेटीएम मनी के बारे में
पेटीएम मनी वन97 कम्युनिकेशंस की पूर्ण स्वामित्व वाली एक सहायक कंपनी है। वन97 कम्युनिकेशंस भारत की घरेलू वित्तीय सेवा प्रदाता पेटीएम का स्वामित्व भी रखता है। यह देश का सबसे बड़ा ऑनलाइन इंवेस्टमेंट प्लेटफार्म है, और अब इसने उपयोगकर्ताओं के लिए डायरेक्ट म्यूचुअल फंड्स और एनपीएस के अपने वर्तमान आॅफर में स्टॉक्स को भी जोड़ दिया है। पेटीएम मनी का लक्ष्य एक पूर्ण-स्टैक इंवेस्टमेंट और वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफार्म बनना और लाखों भारतीयों तक धन सृजन के अवसरों को पहुंचाना है। बेंगलुरु स्थित मुख्यालय से संचालित इस कंपनी की टीम में 300 से अधिक सदस्य हैं।